पोर्न रैकेट मामला: तीसरी प्राथमिकी के आधार पर गहना वशिष्ठ की गिरफ्तारी नहीं होगी: सुप्रीम कोर्ट

पोर्न रैकेट मामले में दर्ज तीसरी प्राथमिकी के आधार पर अभिनेत्री गहना वशिष्ठ को गिरफ्तार नहीं किया जाना चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट ने अपने ताजा आदेश में कहा कि अभिनेत्री गहना वशिष्ठ को पोर्न रैकेट मामले में उनके खिलाफ दर्ज तीसरी प्राथमिकी के आधार पर गिरफ्तार नहीं किया जाना चाहिए।

हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि गहना वशिष्ठ को जरूरत पड़ने पर जांच में शामिल होना चाहिए।

पोर्न फिल्म मामले में जमानत मांगने वाली गहना वशिष्ठ की याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने यह बात कही। बॉम्बे हाईकोर्ट ने इस महीने की शुरुआत में मामले में उनकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी।

गहना वशिष्ठ के वकील ने कहा, “अभियोजन पक्ष ने कहा कि उन्हें [गहना वशिष्ठ की] हिरासत की आवश्यकता है क्योंकि वे पोर्नोग्राफी रैकेट का पता लगाना चाहते हैं और यह पता लगाना चाहते हैं कि कौन से ओटीटी [ओवर द टॉप] प्लेटफॉर्म पर फिल्में बेची गई हैं। पूछताछ के लिए ये केवल दो कारण हैं।”

गहना वशिष्ठ के खिलाफ अश्लील सामग्री बनाने और उन्हें कुछ ओटीटी प्लेटफॉर्म पर अपलोड करने के लिए तीन प्राथमिकी दर्ज की गई हैं। उसके खिलाफ दर्ज दो प्राथमिकी में उसे जमानत मिल गई है। तीसरी प्राथमिकी मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने इससे पहले जुलाई में दर्ज की थी।

इस बीच, सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने कहा कि याचिकाकर्ता (गहना वशिष्ठ) 133 दिनों से हिरासत में है और मुख्य आरोपी पहले से ही हिरासत में है।

यह भी पढ़ें…हाई कोर्ट ने गैंगस्टर विकास दुबे को कानपुर में घात लगाकर हमला करने की सूचना देने वाले दो पुलिसकर्मियों को जमानत देने से किया

यह भी पढ़ें…‘रणनीतिक साझेदारी को मजबूत’ करने के लिए अमेरिका रवाना पीएम मोदी, वैश्विक मुद्दों पर की चर्चा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *